बिहार में बहुत जल्द ऐसी ट्रेन चलेगी, जिसकी सुविधाएं फ्लाइट की तरह होंगी |

बिहार में बहुत जल्द ऐसी ट्रेन चलेगी, जिसकी सुविधाएं फ्लाइट की तरह होंगी |

बिहार में बहुत जल्द ऐसी ट्रेन चलेगी, जिसकी सुविधाएं फ्लाइट की तरह होंगी |

कब तक हमें अति पिछड़ा और अनपढ़ कह कर कोसोगे 
अभी तो बस शुरुआत है मेरे बिहार को तुम आगे बढ़ता हुआ देखोगे |

 बिहार में बहुत जल्द ऐसी ट्रेन चलेगी, जिसकी सुविधाएं फ्लाइट की तरह होंगी


बिहार में बहार हो ,विकास हो यह सब बातें बस नाम मात्र की रह गई थीं. सियासत की गली में बस लोग एक दूसरे पर आरोप लगाते दिखते हैं.

इन सबके बीच इस खबर का आना हम सबके लिए एक बहुत बड़ी खुशी और राहत बन कर आया है। बता दें कि बहुत जल्द बिहार में ऐसी ट्रेन चलने वाली है जिसमें आपको फ्लाइट जैसी सुविधाओं का आनंद प्राप्त होगा। हालांकि इसका किराया फ्लाइट की तरह होने के कारण इस सुविधा का लुफ्त शायद सभी लोग ना उठा पाए। इसमें आपको वातानुकूलित के साथ-साथ एयर होस्टेस की भी सहूलियत मिलेगी।

देश में 109 रूट पर चलने वाली प्राइवेट ट्रेनों में से एक ट्रेंन भागलपुर से चलेगी, यहां से पहली प्राइवेट ट्रेन हावड़ा के लिए चलेगी। परिचालन के लिए निजी कंपनियों से आवेदन भी मांगे गए हैं।

See also  बच्चों को आपकी बात सुनने के लिए प्रेरित करना

कैसे होगा परिचालन

अभी तक के निर्णय के अनुसार इस ट्रेन का परिचालन रोजाना होगा, इसके लिए संभावित समय सारणी भी जारी कर दी गई है। इस ट्रेन की समय भागलपुर से सुबह 6:25 बजे चलकर ट्रेन दोपहर 2:05 बजे हावड़ा पहुंचेगी। हावड़ा से दोपहर 2:35 से खुलकर रात 10:10 बजे भागलपुर पहुंचेगी। ट्रेन साहिबगंज, रामपुरहाट, वर्धमान के रास्ते 425 किलोमीटर की दूरी 7.35 घंटे में तय करेगी।

क्योंकि अभी तक भागलपुर से हावड़ा तक कोई ट्रेन ना चलने के कारण लोगों को और सुविधाएं हो रही थी लेकिन अब शायद लोगों को उस से निजा़त मिल जाए। लेकिन इस बात का साफ तौर पर पुष्टिकरण करना ठीक नहीं है क्योंकि फ्लाइट जैसा किराया होने के कारण समाज का हर तबका शायद सुविधाओं से वंचित रह जाएं |

 क्या होगा किराया और कहां कहां रुकेगी ट्रेन 

ठहराव वाले स्टेशन और किराए आदि का निर्धारण निविदा के बाद होगा, जिसकी प्रक्रिया बहुत जल्द ही शुरू होगी।प्राइवेट ट्रेनों का किराया उस रूट के हवाई किराया के आधार पर तय होगा। एग्जीक्यूटिव क्लास और एसी चेयरकार के कोच होंगे,कोच में एलईडी टीवी, सेल फोन, चार्जर और अन्य सुविधाएं भी होगी। एग्जीक्यूटिव क्लास और एसी चेयरकार के कोच होंगे,कोच में एलईडी टीवी, सेल फोन, चार्जर और अन्य सुविधाएं भी होगी।

यात्रियों के स्वागत एयर होस्टेस की तर्ज पर ट्रेन होस्टेज करेंगी। रेलवे की ओर से प्राइवेट ट्रेन के परिचालन के लिए देश को 12 कलस्टर में बांटा गया है। हावड़ा को क्लस्टर 6 में रखा गया है, जिसमें भागलपुर- हावड़ा रूट को रेलवे ने प्राथमिकता दी है यह पूर्व रेलवे जोन की पहली प्राइवेट ट्रेन होगी। इस ट्रेन में लोको पायलट, सहायक लोको पायलट और गार्ड रेलवे के होंगे। टिकटिंक, पार्सल और अन्य व्यवसायिक कामकाज के अलावा यात्री सुविधाओं का जिम्मा निजी हाथों में होगा। हर साल रेलवे को बोगियों के एवज में ट्रांसपोर्टेशन चार्ज मिलता है, तो बिहार के लिए यह वाकई में किसी खुशखबरी से कम नहीं है।

  *विकास का रास्ता चाहे कितना भी पथरीला हो हम उस पर डट पर चलेंगे, 
   हम बिहारी अपने बिहार को एक नई दिशा की ओर ले कर चलेंगे।*

Leave a Comment